कुछ मज़ेदार लम्हे…

December 9, 2009

नेक सलाह

Filed under: हिंदी — Yogesh Marwaha @ 21:31
Tags:

ऐ दोस्त तू भी लिखा कर शायरी…

मेरी तरह तेरा भी नाम हो जायेगा,

लोग फेंकेगे अंडे-टमाटर…

तो शाम की सब्जी का इंतजाम हो जायेगा!

Source: SMS

Advertisements
TrackBack URI

Create a free website or blog at WordPress.com.