कुछ मज़ेदार लम्हे…

November 18, 2009

ज़ालिम शराब

Filed under: हिंदी — Yogesh Marwaha @ 16:28
Tags: , ,

पी कर रात को हम उनकी याद को भुलाने लगे,

शराब में अपने ग़म को भुलाने लगे,

ज़ालिम शराब पीते ही अपना असर दिखाने लगी,

नशे मैं उनकी सहेलियां भी याद आने लगीं!!!

Source: SMS

Advertisements
TrackBack URI

Create a free website or blog at WordPress.com.